Home 2020

Archives

कलत्र तुझे अब घुटना होगा

कलत्र! तुझे अब घुटना होगा

कलत्र तुझे अब घुटना होगा, तिल तिल तुझको मरना होगातू प्राणप्रिया है मेरे सूत की, छुप छुप आँहें भरना होगा।बलि वेदी पे मातृभूमि के,...
काव्यांजलि भाग-१५

काव्यांजलि भाग-१५

0
अफसोस इंसान तू क्या से क्या हो गया ?बनाया था तुझे इंसानियत का...
काव्यांजलि भाग-१४

काव्यांजलि भाग-१४

0
"प्रारब्ध" लिखा जो प्रारब्ध में मिलकर रहेगालाख कोशिश कर तू इन लकीरों को...
अभिसारिका

अभिसारिका

मुझको प्रतिफल मिला पुण्य कर्मों का तब,जब मिलाया था ईश्वर ने तुमसे सनम।वो थी अनुपम निशा शीत था वो पवन,चाँद था...
काव्यांजलि भाग-१३

काव्यांजलि भाग-१३

0
हे भगवन ! हे भगवन अब तो कृपा करोबहुत हुआ है दंड प्रकृति...
काव्यांजलि भाग-12

काव्यांजलि भाग-12

0
जिंदगी की दौड़ में जिंदगी की दौड़ में कहां निकल आये ,कुछ पता ही न चला ।कुछ...
वक़्त को मनाना है

वक़्त को मनाना है…

0
थोड़ा गुमसुम, थोड़ा चुपचाप, थोड़ा सा बेगाना है।ये हमसे है नाराज, हमें इस वक़्त को मनाना है ।। ये...
"परिवार"

“परिवार”

0
मस्ती भरी दुनियाखेल-कूद का माहौलथोड़ी सी डॉटऔर प्यारी प्यारी पुच्चियांयही तो है एक परिवार अपना । ना ही किसी...
सच्चा प्रेम “मां”

सच्चा प्रेम “मां”

0
जन्मी थी मैं छोटी सीपाल-पोस कर बड़ा किया'हे मां' तूने मेरे दिल कोअपने प्रेम से भर दिया ।
काव्यांजलि भाग-११

काव्यांजलि भाग-११

0
"मां" बैठाते वक्त डोली मेंबढ़ते सैलाब को रोक आंखों में ,जीवन का हर...
Skip to toolbar